Saturday, November 15, 2008

मेरी कुछ पसंदीदा किताबें...

गणदेवता-तारा शंकर वद्योपाध्याय
गोदान-प्रेमचंद
बलचनमा-बाबा नागार्जुन
रतिनाथ की चाची-नागार्जुन
वरुण के बेटे-नागार्जुन
मैला आंचल-फणीश्वरनाथ रेणु
राग दरवारी-श्रीलाल शुक्ल
शेखर एक जीवनी-अज्ञेय
श्रीकांत-शरत चंद
कर्मभूमि-प्रेमचंद
चरित्रहीन-शरतचंद
बिराजबहू-शरतचंद
प्रथम प्रतिश्रुति-आशापूर्णा देवी
सुवर्णलता- आशापूर्णा देवी
वकुलकथा- आशापूर्णा देवी
वोल्गा से गंगा- राहुल सांकृत्यायन
रंगभूमि-प्रेमचंद
सेवासदन-प्रेमचंद
आधागांव-राही मासूम रजा
कटरा बी आर्जू-राही मासूम रजा
संस्कृति के चार अध्याय-दिनकर
कितने पाकिस्तान-कमलेश्वर
आग का दरिया-कुरतुल-एन-हैदर
झूठा सच- यशपाल
पिंजर-अमृता प्रीतम
तमस-भीष्म साहनी
हजार चौरासी की मां-महाश्वेता देवी
जंगल के दावेदार-महाश्वेता देवी
चिक्क वीर राजेंद्र- मस्ति व्यंक्टेंश अयंगर
वैशाली की नगरवधू- आचार्य चतुरसेन
सोमनाथ- चतुरसेन
लव, ट्रुथ एंड लिटिल मेलाईस-खुशवंत सिंह
द लास्ट मुगल- डोमनिक लेपियर
इंडिया आफ्टर गांधी- आर सी गुहा
द मैक्सिमम सिटी- सुकेतु मेहता
द अदर साइड ऑफ मी- सिडनी सेल्डन
द इनसाइडर- पी वी नरसिंहाराव
1984- जार्ज आरवेल
मां- गोर्की
ब्लासफेमी- तहमीना दुर्रानी

3 comments:

एस. बी. सिंह said...

आपकी और मेरी पसंद बहुत मिलाती है या फ़िर अच्छी किताबें सब को पसंद होती हैं।

Hari Joshi said...

एक अयाचित सलाह-
किसी को उधार मत दीजिएगा अपनी इस संपत्ति को।

My Jungles said...

सुन्दर